प्राकृतिक रुप से Blood Pressure कैसे कम करें | How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi

प्राकृतिक रुप से Blood Pressure कैसे कम करें | How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi

  • प्राकृतिक रुप से Blood Pressure कैसे कम करें | How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi प्राकृतिक रुप से Blood Pressure कैसे कम करें | How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi
आजकल की भागदौड़ भरी जिंदगी में बहुत सारे लोगों को High Blood Pressure से जुड़ी समस्या रहती है, जिसका कारण लोगों की अनियमित जीवन शैली है। इसे हाइपरटेंशन के नाम से भी जाना जाता है। यह एक ऐसी स्थिति होती है, जिसमें रक्त धमनियों में खून का दबाव सामान्य दाब से अधिक हो जाता है। Blood Pressure सामान्य से ज्यादा होने पर यह हृदय, गुर्दे, धमनियों आदि पर नकारात्मक प्रभाव डालता हैं। इसलिए यह प्रत्येक व्यक्ति के लिए आवश्यक होता है कि उसका Blood Pressure सामान्य रहे। जिन लोगों का Blood Pressure कभी कभी किसी कारणवश बढ़ जाता है, ऐसे लोग अपना Blood Pressure Naturally कम कर सकते हैं। इसलिए इस लेख में हमने बताया है कि, Blood Pressure को प्राकृतिक रूप से सामान्य कैसे करें (How to lower blood pressure naturally in hindi)? ज्यादातर लोगों को बहुत ज्यादा दवाइयां खाना पसंद नहीं होता है, इसलिए वे लोग Blood Pressure को प्राकृतिक रूप से सामान्य रखना चाहते हैं। अगर आप भी उन्ही में से एक हैं, तो आपको यह लेख ध्यान से पूरा पढ़ना चाहिए।

उच्च रक्तचाप के कारण(Reasons of High BP in Hindi)

एक सामान्य व्यक्ति के शरीर में रक्त का दबाव 120/80 से कम रहता है, रक्त का दबाव इससे अधिक होने पर उच्च रक्तचाप (High Blood Pressure) की समस्या होने लगती है। अनियंत्रित रक्तचाप मस्तिष्क की रक्त वाहिकाओं को कमजोर करता है, जिसके कारण स्ट्रोक आने का खतरा बना रहता है। इसलिए यह आवश्यक है कि उच्च रक्तचाप के कारण का पता लगाया जाए, जिससे इसे नियंत्रित करने में आसानी होती है। यहां पर हमने कुछ कारण बताए हैं, जिनसे उच्च रक्तचाप होने की संभावना ज्यादा रहती है।

– शारीरिक गतिविधियों की कमी होना

– नमक का सेवन अधिक करना

– धूम्रपान तथा शराब का सेवन अधिक करना

 -अत्यधिक मोटापा होने से

– उम्र का बढ़ना (बुढ़ापा)

– अनुवांशिकता के कारण

– अत्यधिक तनाव में रहने से

– थायराइड के अनियंत्रित होने से

– स्लीप एपनिया (नींद से जुड़ी गंभीर समस्या)

उच्च रक्तचाप के लक्षण(Symptoms of High Blood Pressure in Hindi)

उच्च रक्तचाप की बीमारी को Silent Killer नाम से भी जाना जाता है। क्योंकि ये बीमारी किसको कब हो जाती है जल्दी पता ही नहीं चलता है। लेकिन इसके कुछ लक्षण है, जिससे उसकी पहचान करने में आसानी होती है। हमने High Blood Pressure के कुछ लक्षण नीचे बताया है।

-थकान का एहसास होना

-लगातार सिर दर्द होना

-चक्कर आना

-सांस लेने में परेशानी होना

-सीने में दर्द होना

-नाक से खून निकलना

अगर आपको भी ये लक्षण बहुत ज्यादा महसूस होते हैं, तो आपको अपने डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

रक्तचाप को प्राकृतिक रुप से कैसे कम करें – How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi

यहां पर हमने कुछ आसान उपाय बताएं है, जिनको आजमाकर आप Naturally अपना Blood Pressure कम कर सकते हैं।

लहसुन का सेवन करें

लहसुन का सेवन करके Blood Pressure को कम किया जा सकता है। एक रिसर्च के मुताबिक लहसुन में एसएल-16 नामक बायोएक्टिव सल्फर यौगिक पाया जाता है, जो Blood Pressure को नियंत्रित करने में सहायता कर सकता है। इसके साथ ही यह रक्त का थक्का नहीं जमने देता है, और कोलेस्ट्रॉल को नियंत्रित करता है। इस उपाय का प्रयोग करने के लिए, आप सुबह-शाम शहद के साथ लहसुन की एक कली का सेवन कर सकते हैं।

केले का सेवन करे

केले में पोटेशियम की उच्च मात्रा पाई जाती है, जिसके कारण यह रक्तचाप को नियंत्रित करने में मददगार साबित हो सकता है। इसका सेवन करने के लिए आप सुबह शाम 2-3 केले के सकते है। इस बात का ध्यान रखें कि एक साथ 6 से अधिक केले का सेवन ना करें, क्योंकि इसमें उपस्थित उच्च पोटेशियम की मात्रा विपरीत प्रभाव डाल सकती है।

गाजर का सेवन करें

उच्च रक्तचाप को नियंत्रित करने के लिए गाजर का सेवन किया जा सकता है, क्योंकि इसमें पोटेशियम, नाइट्रेट्स, फाइबर आदि पोषक तत्वों के साथ विटामिन सी पाया जाता है, जो Blood Pressure को कम करने में सहायता करते हैं। एक रिसर्च के मुताबिक गाजर का सेवन करने से सिस्टोलिक Blood Pressure को 5% तक कम किया जा सकता है। इसके लिए आप अपने भोजन में गाजर का इस्तेमाल कर सकते हैं या गाजर के जूस का सेवन कर सकते हैं।

मेथी के बीज का सेवन करें

एक रिसर्च के मुताबिक मेथी में पॉलीफेनोल और फ्लेवोनोइड जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो इंसान के शरीर में अपने एंटी-ऑक्सीडेंट गुणों के कारण हाइपोकोलेस्टरोलेमिक प्रभाव डालता है। इस प्रभाव के कारण शरीर में कोलेस्ट्रॉल नियंत्रित होता है, जिसके कारण Blood Pressure भी नियंत्रण में रहता है। इस प्रकार मेथी के बीज रक्तचाप को नियंत्रित करने में काफी मददगार होते हैं। इसका सेवन करने के लिए आप आधे चम्मच मेथी के बीज को एक गिलास गर्म पानी में रातभर के लिए भिगो दें, और सुबह उठकर इसका सेवन करें।

अदरक का सेवन करें

अदरक का सेवन करने पर यह शरीर में हाइपरटेंसिव प्रभाव डालता है, जिससे रक्तचाप को कम करने में सहायता मिलती है। एक रिसर्च के मुताबिक आठ सप्ताह तक अदरक का सेवन करने से सिस्टोलिक और डायस्टोलिक Blood Pressure को कम किया जा सकता है। इस उपाय के लिए आप अदरक के टुकड़े का प्रयोग अपने भोजन में कर सकते हैं।

शहद का सेवन करें

एक रिसर्च की अनुसार शहद में क्वेरसेटिन (Quercetin) जो कि एक तरह का पॉलीफेनोल होता है, पाया जाता है। यह Blood Pressure को नियंत्रित करने का कार्य करता है। इसलिए आपको शहद का सेवन करना चाहिए।

सेब की सिरके का प्रयोग करें

Blood Pressure को नियंत्रित करने में सेब का सिरका भी मददगार हो सकता है। इसमें एसिटिक एसिड पाया जाता है, जिसमें एंटीहाइपरटेन्सिव गुण होता है, जो रक्तचाप को कम करने में मदद कर सकता है। इस उपाय के लिए आप एक गिलास गुनगुने पानी में सेब के सिरके की कुछ बूंदे मिलाकर पी सकते हैं। इस बात का ध्यान रखें कि इसका सेवन अधिक मात्रा में ना करें। क्योंकि एक रिसर्च के मुताबिक यह शरीर में पोटेशियम की मात्रा को कम कर सकता है, जो कि Blood Pressure को नियंत्रित करने में मददगार होता है।

नींबू का सेवन करें

एक रिसर्च के अनुसार नींबू का सेवन करने से High Blood Pressure तथा इससे जुड़े लक्षणों को कम किया जा सकता है। इस रिसर्च में चूहों पर एक प्रयोग किया गया था, जिसके अनुसार यह पता चला कि नींबू का जूस और इसके फ्लेवोनोइड सिस्टोलिक Blood Pressure को कम करने में दमनकारी प्रभाव दिखाते हैं। इस उपाय के लिए गुनगुने पानी में नींबू का रस मिलाकर चाय की तरह पी सकते हैं।

प्याज का रस प्रयोग करें

एक रिसर्च के अनुसार 6 सप्ताह तक प्याज के अर्क का सेवन करने वाले लोगों के ब्लड प्रेशर में कमी पाई गई है। चूंकि प्याज की परतों में क्वेरसेटिन (Quercetin) नामक पॉलीफेनोल पाया जाता है। यह यौगिक रक्तचाप को कम करने में काफी मददगार माना जाता है।

Tips For Lower Blood Pressure Naturally in Hindi

इस उपाय के लिए आप आधे चम्मच शहद में आधा चम्मच प्याज का रस मिलाकर सुबह शाम पी सकते हैं।

यहां पर हमने आपको कुछ टिप्स बताए हैं, जिसका उपयोग करके आप अपना Blood Pressure Naturally कम कर सकते हैं।

धूम्रपान करने से बचें, क्योंकि यह Blood Pressure को सामान्य से अधिक कर देता है।

अपने भोजन में फलों तथा सब्जियों का सेवन अधिक करें, और अधिक वसा (Fat) वाले खाद्य पदार्थों का सेवन करने से बचें।

शरीर का वजन अधिक होने से Blood Pressure के बढ़ने की संभावना अधिक होती है, इसलिए अपने वजन को BMI (बॉडी मास इंडेक्स) के अनुसार नियंत्रण में रखें।

अगर आप उच्च रक्तचाप से निजात पाना चाहते है तो खुद को तनाव मुक्त रखें। इसके लिए आप योग का सहारा ले सकते हैं।

अपनी शरीर को स्वस्थ रखने के लिए योग और एक्सरसाइज को बढ़ावा दें, आप इसके अलावा अपनी शारीरिक गतिविधि को बढ़ाएं।

नमक का सेवन कम करें, क्योंकि यह Blood Pressure को बढ़ाता है।

ढेर सारा पानी पिएं।

शराब का अधिक सेवन करने से बचें, क्योंकि यह Blood Pressure को बढ़ाता है। अगर आप उच्च रक्तचाप के मरीज है, तो शराब का सेवन बिल्कुल ना करें।

Conclusion

उच्च रक्तचाप एक ऐसी बीमारी है, जिसे पूरी तरीके से नहीं खत्म किया जा सकता है, लेकिन आप अपनी जीवन शैली में बदलाव लाकर इसे अवश्य नियंत्रित कर सकते हैं। हमें उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख ” How to Lower Blood Pressure Naturally in Hindi “ यानी कि प्राकृतिक रुप से Blood Pressure कैसे कम करें पसंद आया होगा। और हमें विश्वास है कि यह लेख आपको प्राकृतिक रूप से Blood Pressure कम करने में सहायता अवश्य करेगा। अगर आपको हमारा ये लेख पसंद आया हो तो कृपया हमारे इस लेख को अपने दोस्तों के साथ तथा अपने सोशल मीडिया पर साझा करना ना भूले। जिससे यह महत्वपूर्ण जानकारी अन्य लोगों तक पहुंच सके। (डिस्क्लेमर/disclamer):-इस ब्लॉग में दी गई जानकारी सिर्फ लोगों को अवगत कराने के लिए है,इसे मेडिकल सलाह के रूप में न लिया जाय,इस जानकारी को आप अपने इलाज करने के लिए ना ले,आपको अपनी हर बीमारी की सलाह और इलाज अपने रजिस्टर्ड मेडिकल डॉक्टर से लेना चाहिए)।

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *