टोनर और मिस्ट के बीच में अंतर ||Difference between toner and face mist ||

टोनर और मिस्ट के बीच में अंतर ||Difference between toner and face mist hindi ||

अक्सर लोग दुविधा में पड़ जाते है कि टोनर और मिस्ट के बीच में क्या अंतर है? इन्हें चहेरे पे क्यों लगाया जाता है,और इन्हें लगाने से त्वचा को क्या फायदे होते है ?तो ये आर्टिकल मैं आज हम जानेंगे कि-

  • टोनर और मिस्ट क्या होते है?
  • इनके त्वचा में क्या फायदे है।
  • टोनर और मिस्ट्स बीच में फर्क क्या है
  • सही टोनर और मिस्ट्स कैसे चूने
  • इन्हें लगाने का तरीक, कब और कैसे लगााएए
  • इसे लगाने वक्त क्या सावधानियां बरते इत्यादि..
  1. टोनर और मिस्ट के बीच में अंतर |Difference between toner and face mist || टोनर और मिस्ट के बीच में अंतर

टोनर क्या है?

टोनर लिक्विड फॉर्म में आने वाला वॉटर बेस्ड स्किनकेयर प्रोडक्ट है,ये। त्वचा में मेक अप, हैवी सनस्क्रीन, और बाहरी प्रदूषण से जमने वाली गंदगी, जो फेस वॉश करने के बाद भी चहेरे पे जमी रहती है, उसे अच्छे से साफ करने के साथ साथ त्वचा के ph लेवल को बैलेंस करता है,त्वचा के खुले रोम छिद्रों को सिकुड़ता है और त्वचा को टाइट/फर्म और ग्लोइंग बनाता  है।

शुरू में टोनर का मुख्य इंग्रेडिएंट् अल्कोहल हुआ करता था मगर आज कल ज्यादातर अल्कोहोल फ्री टोनर यूज़ किया जाता है जो कि त्वचा को केमिकली एक्सफोलिएट करता है,ऑयल को कंट्रोल करता है,और त्वचा में हाइड्रेशन लेवल को बढ़ाता है, इसके मुख्य इंग्रेडिएंट्स– केमोमाएन ,जीनसिंग,और पेपरमिंट,विच हेज़ल, ओइली स्किन के लिए ,सैलिसिलिक औ बेंज़ोइल पेरोक्साइड एक्ने प्रोन स्किन के लिए,AHA/BHA युक्त टोनर एक्सफोलिएशनके लिए, तो अलोएवेरा,रोज वाटर,ह्यलयुरोनिक एसिड जैसे हाइड्रेटिंग तत्व ड्राई स्किन के लिए यूज़ होता है।

टोनर के फायदे

  1. टोनर त्वचा को डीपली क्लिन करने के साथ साथ नमी को त्वचा में लॉक करता है,त्वचा की डीप क्लीनिंग करता है।
  2. टोनर के बाद लगाए जाने वाले स्किन केअर प्रोडक्टस जैसे मिस्ट ,सीरम,और मॉइस्चराइजर में मौजूद सारे न्यूट्रिएंट्स की त्वचा में अंदर तक सोखने की क्षमता को बढ़ाता है जिसे त्वचा मॉइस्चराइजर , मिस्ट या सीरम के सारे न्यूट्रीएंट्स के फायदे ले सके,

फेस मिस्ट्स क्या है?

फेस मिस्ट्स एक लिक्विड फॉर्म में स्प्रे बोतल में आने वाला स्किन केअर लिक्विड है जो कि त्वचा को तुरंत शीतलता और नमी प्रदान करता है।पर इसका आपके खुले रोम छिद्रों को सिकुड़ने में मदद नही करता।

इसके मुख्य इंग्रेडिएंट्स जैसे -एलोवेरा, गुलाब जल,शहद,ह्यलुरोनिक एसिड,फूलों के एक्सट्रैट्स,और आदि कई महत्व पूर्ण प्लान्ट एक्सट्रैट्स एसेंशियल ऑइल इत्यादि का तरल फॉर्म त्वचा को डिपली और इंस्टेंट हाईड्रेट करता है।

फेस मिस्ट के फायदे:-

  1. जब आप सारे दिन एयर कंडीशन कमरे में काम करते हो या बाहर कड़ी धूप में घूमते हो तो त्वचा सुखी /डी हायड्रेट और बेजान हो जाती है तब फेस मिस्ट छिड़क ने से मिस्ट त्वचा को तुरंत ताजगी मिलती है,ये त्वचा को मॉइस्चराइज करता है और इसमें शामिल पोषक तत्वों के गुणों से त्वचा को पोषण देता है।
  2. अगर आपकी त्वचा ड्राई है तो हर दो तीन घंटे में इसे चहेते पे छिड़कते रहने से त्वचा हाईड्रेट और ताजी बानी रहेगी और ओइली स्किन वालो की त्वचा को भी बिना ओइली बनाये ड्यूई और पलम्प लुक देगी
  3. इसमें विटामिन-सी जैसे नेचुरल एंटीऑक्सीडेंट, और एन्टी एजिंग इंग्रेडिएंट्स है,जो त्वचा को हैल्धि बनाता है।
  4.  मेकअप के पहले मेक अप के फ्लोलेस बनाने के लिए और फाउंडेशन को अच्छि तरह से ब्लेंडिंग के लिए स्मूथ और हाइड्रेटेड कैनवास को तैयार करता है।जिससे नैचरल और शियर लुक मिलता है।
  5. और मेक अप के बाद में लगाने से मेक अप लोंग लास्टिंग रहता है और सीमलेस लगता है,एक्स्ट्रा पाउडर रह गया हो तो उसे एकसार करने में मदद करता है।
  6. दिन भर के मेक अप को टच -अप के लिए हल्का सा मिस्ट स्प्रे करके हाइड्रेटेड फेस पर मेक अप टच अप कर लेने से फिर से रिफ्रेश और ड्युई मेक अप लुक मिलता है।और फिर से मेक अप से टच-अप की जरूरत ही नहीं।
  7. वर्क आउट के बाद: वर्क आउट के बाद थके हारे चहरे पर अगर फेस मिस्ट लगाया जय तो फ़ीर से चहेरे पर ताज़गी और हाइड्रेटेड ग्लो आ जाता है।
  8. सोने सेे पहले:-सोने के कुछ देर पहले मिस्ट लगाने से स्किन हाइड्रेट होने के साथ साथ रिलेक्सड फील होता है।
  9. दिन मैं जबभी थकान महसूस हो तब इंस्टेंट ताजगी  के लिए इसे चहेरे पे स्प्रे करने से इंस्टेंट ताज़गी का एहसास होता है।

टोनर और मिस्ट के बीच फर्क (difference between toner and face mist):-

  1. टोनर का काम क्लींजिंग के बाद त्वचा मैं छुटी गंदगी को साफ करने के साथ साथ त्वचा के ph लेवल को बैलेंस करता है जिससे त्वचा में न ज्यादा सुखी न ज्यादा ड्राई रहती है।और ये ओपन पोर्स को सिकुड़ता है त्वचा को टोन यानी कि टाइट करता है जबकि–फेस मिस्ट त्वचा के हाइड्रेशन को बूस्ट करता है,मगर न तो ये ph लेवल को बैलेंस करता है और न ही ओपन पोर्स को सिकुड़ने में मदद करता है।
  2. स्किन केअर रूटीन मैं टोनर को स्किप नही करना चाहिए CTM (Cleansing-toning-moistriszing) का ये एक आवश्यक हिस्सा है। जबकि CTM रूटिन में मिस्ट को स्किप कर सकते है,और चाहे जब लगा सकते हो।
  3. टोनर दिन मैं जब भी चहेरे को फेस वॉश से साफ करने के बाद ही यानीकी दिन मैं दो वक्त मोर्निंग और नाईट स्किन केअर के वक्त लगते है जबकि फेस मिस्ट को कभी भी ताजगी,ठंडक और हल्के मॉइस्चराइजिंग बूस्ट के लिए कभी भी स्प्रे जार सकते है।

टोनर और फेस मिस्ट लगाने का तरीका

टोनर/toner
  • टोनर स्प्रे बोतल और वाइप अप दोनों तरीके से इस्तेमाल कर सकते है ,स्प्रे बोतल में से टोनर को चहेरे से थोड़ी दूरी पे स्प्रे करके हथेलियों से हल्के से थप थपायें और पूरी तरह से सुख ने दें या बोतल से थोड़ी बूंदे कॉटन पैड में ले और इसे चहेरे पे हल्के हाथों से वाइप करे,री तरीका ज्यादा बेहतर है क्योंकि, इससे चहेरे की अच्छेसे सफाई हो जाती है, फेस वॉश के बाद छूटी चिकनाहट और मेल अच्छेसे साफ हो जाता है
  •  सूखने के बाद ही आगे का स्किन केअर प्रोडक्ट लगाएं।
मिस्ट/mist
  • मिस्ट को स्प्रे बोतल को चहेरे से थोड़ी दूरी से स्प्रे करे और इसे पूरी तरह सूख ने दें। इसे दिन मैं कभी भी चहेरे पे स्प्रे करे और ताजगी और नमी को महसूस कर सकते है।

लगाते वक्त क्या सावधानियां बरतें

  1. टोनर या मिस्ट हमेशा अपनी स्किन टाइप के अनुसार चुनें।
  2. टोनर अच्छेसे वॉश और ड्राई फेस पे लगाएं,टोनर लगाने के बाद इसे पूरी तरह से सूखने ने के बाद ही सीरम या मोइचराइज़र लगाएं।

right toner or face mists:-

ऑइली और एक्ने प्रोन सेंसिविटी त्वचा के लिए Aha /Bha/ ग्लायकोलिक एसिड युक्त सही टोनर चुनें।

1 Minimalist PHA 3% Alcohol Free Face Toner for oily acne pron and sensitive skin 2 UrbanBotanics Alcohol Free Toner for Face with Witch Hazel, Neem, Basil & Glycolic Acid 

ड्राई स्किन के लिए टोनर/toner for dry skin

ड्राई स्किन/नार्मल/कॉम्बिनेशन त्वचा के लिए ह्यलयुरोनिक एसिड,रोज वाटर,ग्लिसरीन, विटामिन c जैसे एंटी ऑक्सिडेंट इत्यादि युक्त टोनर चुनें।

3 Good vibes rose glow toner for dry skin चुन सकते है।

खीरे का रस व गुलाबजल नेचुरल टोनर है इसका उपयोग भी टोनर के तौर पे कर सकते है।

 

इसी तरह फेस मिस्ट भी लगभग इन्ही इंग्रेडिएंट्स युक्त अपनी त्वचा के अनुसार चूने।

 St।botanica nutrivo Pomogrenet redient glow mist

ड्राई स्किन के लिए या ऑल स्किन टाइप के ट्राय कर सकते है-

woow levender and rose skin mist

ओइली एक्ने प्रोन स्किन के लिए यूज़ कर सकते है-

Plum green tea re vitalising face mist

आशा है आपको टोनर और मिस्ट के बीच में अंतर (Difference between toner and face mist)के बारे में सारे सवालों के जावाब मिल गए होंगे,अगर आपको आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे अपने दोस्तों में शेयर जरूर कीजिए और कुछ सवाल हो तो कमेंट में जरूर लिखें।

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *