ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए ||Amazing health Benefits and who should avoid it Hindi

ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए ||Amazing health Benefits and who should avoid it Hindi

ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए ||Amazing health Benefits and who should avoid it Hindi
ग्रीन टी वाकई में दुनिया का सबसे स्वास्थ्यवर्धक पेय है, जो स्वास्थ्य के लिए बहुत ही लाभदायक है। इससे न केवल स्वास्थ्य लाभ होता है, बल्कि इससे आपके दिमाग को भी आराम मिलता है।आज के इस पोस्ट में हम आपको ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए ग्रीन टी इसके बारे में बताएंगे, जिन्हें जानने के बाद आप अपनी दिनचर्या में ग्रीन टी को जरूर शामिल करेंगे।

सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीने के फायदे

अगर आप सुबह खाली पेट ग्रीन टी पीते है, तो आपको निम्नलिखित 11 फायदे मिलते हैं।

1. वजन घटाने में सहायता (Helps in weight loss):-

ग्रीन टी मेटाबॉलिज्म बढ़ाने में मदद करती है, क्योंकि इसमें बायो एक्टिव पॉलीफेनोल होता है, जो वसा(चर्बी) के ऑक्सीकरण के स्तर को तेज करने का काम करता है। जिसके कारण तेजी से आपके शरीर में भोजन कैलोरी में बदलने लगता है, और इससे आपको अपने वजन को नियंत्रित करने में मदद मिलती है। इसलिए रोज सुबह खाली पेट ग्रीन टी पिएं और कुछ ही दिनों में अंतर पर ध्यान दें।

2. अवसाद कम करने में सहायक (helps in removing depression):-

अगर आप अवसाद से परेशान रहते हैं, तो आप एक कप ग्रीन टी पीने की कोशिश क्यों नहीं करते हैं? ग्रीन टी में थिएनाइन होता है, जो एक एमिनो एसिड है। यह शरीर पर एक शांत और आराम (Calming relaxing)प्रभाव प्रदान करता है। इसलिए यह अवसाद से पीड़ित लोगों के लिए बहुत फायदेमंद है। इसलिए ग्रीन टी अवश्य पिएं और खुश रहें।

3. रक्तचाप को नियंत्रित करता है(helps in controlling Blood pressures):-

यदि आप उच्च रक्तचाप से पीड़ित रहते हैं, तो आपको ग्रीन टी को सुबह का पेय बनाना चाहिए। शोध बताते हैं, ग्रीन टी के नियमित सेवन से उच्च रक्तचाप का खतरा कम होता है और यह नियंत्रण में रहता है। तो आज से ही प्रतिदिन सुबह ग्रीन टी पीने की आदत डालें।

4. कैंसर का खतरा कम करने में सहायक(May helps in preventing Cancer):-

कहा जाता है कि ग्रीन टी से हमारे शरीर को कई तरह के कैंसर से बचाने मैं मदद मिलती है है। क्योंकि इसमें एंटीऑक्सीडेंट गुन होते है, जो हमारे शरीर से निकल ने वाले फ्री रेडिकल से होने वाले नुकसान से बचाता है इन्ही फ्रीरेडिकल से होने वाले नुकसान से हमारे शरीर को कई तरह के कैंसर का खतरा होता है।इस तरह ये कैंसर के जोखिम को कम कर सकता है। कैंसर के विकास को धीमा करने में काफी मददगार है, जैसे स्तन कैंसर और प्रोटेस्ट कैंसर ग्रस्त कोशिकाओं के उनके आसपास के स्वस्थ ऊतकों को बिना कोई नुकसान पहुंचाए मार देती है। हाँ पर ये जरूरी नहीं कि ये हर तरह के कैंसर को ठीक करती है।

5. खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करता है (lowers the bad cholestrol):-

खराब कोलेस्ट्रॉल से छुटकारा पाने का सबसे अच्छा तरीका है कि आप रोज सुबह ग्रीन टी पिएं। ग्रीन टी में मौजूद तत्वों को मानव शरीर से खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने के लिए कहा जाता है और यह अच्छे कोलेस्ट्रॉल के अनुपात को बढ़ाकर खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी सुधार करता है।

6. दीर्घायु को बढ़ाता है (Anti aging quality)

अगर आपको लंबी जिंदगी जीनी है, रोज सुबह खाली पेट एक कप ग्रीन टी पीना शुरू करें। कहा जाता है कि ग्रीन टी में मौजूद तत्व दीर्घायु को बेहतर बनाते हैं। इससे आपको न केवल लंबा जीवन मिलता है, बल्कि एक स्वस्थ जीवन भी मिलता है। यह ग्रीन टी के फायदे में से सबसे महत्वपूर्ण फायदा है।

7. त्वचा के लिए बढ़िया (Best for healthy and glowing Skin):-

क्या आप जानते हैं कि ग्रीन टी भी झुर्रियों और उम्र बढ़ने के के संकेत को कम करने में मदद कर सकती है। ग्रीन टी के एंटी-इंफ्लेमेटरी और एंटीऑक्सीडेंट गुण आपकी त्वचा के लिए बहुत बड़ा वरदान है। इसके साथ ही ग्रीन टी आपकी त्वचा को सूरज की क्षति से बचाने में भी मदद कर सकती है।

8. वृद्धावस्था में मस्तिष्क की रक्षा करता है (Good for Healthy brain):-

नियमित रूप से ग्रीन टी के सेवन से पार्किंसन और अल्जाइमर के कारण मस्तिष्क में होने वाली गिरावट में देरी होती है। ग्रीन टी मैं हल्का caffain होता है,जो मस्तिष्क के की कोशिकाओं उत्तेजित करता है, ब्रेन फंक्शनिंगकी तेज करता है, क्षतिग्रस्त मस्तिष्क कोशिकाओं को भी पुनर्स्थापित करता है। एक स्वस्थ मस्तिष्क के लिए, आपको आज से ही इस जादुई औषधि को पीना शुरू करना चाहिए।

9. मधुमेह का खतरा कम करता है(lower the risk of Diabetes):-

यदि आप मधुमेह के रोगी हैं, तो आपको रोजाना ग्रीन टी का सेवन करना चाहिए। यह न केवल ग्लूकोज के स्तर को नियंत्रित करता है, बल्कि भोजन करने के बाद बढ़ने वाले रक्त शर्करा के स्तर को बढ़ने से रोकता है। ग्रीन टी उच्च इंसुलिन स्पाइक्स और शरीर में वसा के भंडारण को भी रोक सकती है। यदि आप नियमित रूप से ग्रीन टी का सेवन करते हैं तो आपको मधुमेह में लाभ अवश्य मिलेगा।

10. एंटीवायरल और जीवाणुरोधी गुण है (Anti viral and antibecterial Qualities):-

यदि आप अपनी सुबह की शुरुआत ग्रीन टी से करते हैं, तो आपके बीमारी होने की संभावना बहुत कम होती है। क्योंकि इसमें मौजूद एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल एजेंट कई बीमारियों जैसे इन्फ्लूएंजा से कैंसर तक के लिए प्रभावी हैं। अध्ययनों से पता चला है कि ग्रीन टी विभिन्न रोगों के प्रसार को भी रोकने में लाभदायक है।

11.मुँह की दुर्गंध हटाता है (Stops Bad breath):-

अगर आपको मुँहकी दुर्गंध की समस्या है तो ग्रीन टी ट्राय करें,इसमें Catechins होता है जो मुँह मैं छिपे बेक्टेरिया को मारता है,सांशोधन से पता चला है की मुँह के खराब बेक्टेरिया बेड ब्रेथ यानी कि मुँह की दुर्गंध की वजह हो सकती है और ये बेक्टेरिया दांतो में सडन भी पैदा करते है, तो ग्रीन टी की वजह से दांतों की सड़न और मुँह की दुर्गंध दोनों में फायदा होता है। ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए ||Amazing health Benefits and who should avoid it

लेमन ग्रीन टी के फायदे (Benefitts of Lemon green tea):-

लेमन ग्रीन टी के फायदे पाने के लिए आपको नींबू को शहद के साथ मिलाकर एक कप ग्रीन टी रोजाना पीना चाहिए। इससे न केवल आपको मौसमी संक्रमण से लड़ने में मदद मिलती है, बल्कि यह Immune system मजबूत करने में भी मदद कर सकता है। नींबू प्रतिरक्षा बढ़ाने वाले विटामिन सी का खजाना है, जो हमारे शरीर में फ्री रेडिकल्स को डिटॉक्सीफाई करने में मदद करता है। जिससे अतिरिक्त वजन बढ़ने की संभावना भी कम हो जाती है। शहद कई रोगाणुरोधी और antibacterial गुण रखने वाला तथा खांसी को समाप्त करने वाला एक प्राकृतिक दवा माना जाता है। इस प्रकार लेमन ग्रीन टी immunity को बढ़ाने में सहायक होता है। कितनी मात्रा में ग्रीन टी लें? ज्यादा से ज्यादा 2 कप से ज्यादा कभी भी न।पिएं।

ग्रीन टी बनाने की विधि (how to make green tea):-

यहां बताया गया है, कि आप ग्रीन टी बैग के प्रयोग करके एक कप ग्रीन टी कैसे तैयार कर सकते हैं? इस विधि के इस्तेमाल से आप निश्चित रूप से अपने लिए एंटीऑक्सीडेंट युक्त ग्रीन टी बना सकते हैं। यहां कुछ चीजें बताई गई है, जिसकी आपको जरूरत है। अच्छी गुणवत्ता वाली ग्रीन टी बैग 1 कप गर्म पानी 1 स्टेनलेस स्टील / मिट्टी कप कप ढकने के लिए एक ढक्कन एक स्टेनलेस स्टील का बर्तन ग्रीन टी बनाने का तरीका Step:1 स्टेनलेस स्टील के बर्तन में पानी गर्म करें और सुनिश्चित करें कि पानी का तापमान लगभग 80-85 डिग्री सेल्सियस होना चाहिए। Step:2 ग्रीन टी बैग को मिट्टी या स्टेनलेस स्टील के कप में डालें। Step:3 उसके बाद कप में गर्म पानी डालें और इसे एक छोटे ढक्कन के साथ कवर करें, ग्रीन टी बैग को 3 मिनट के लिए कप ने पड़ी रहने दें। Step:4 3 मिनट खत्म होने के बाद, ढक्कन को हटा दें और टी बैग को हटा दें। उसके बाद चम्मच से ग्रीन टी को मिलाकर उसका सेवन करें।  

ग्रीन टी कब नहीं लेनी चाहिए:-

  • अगर एसिडिटी की प्रॉब्लम हो तो भूखे पेट ग्रीन टी नहीं लेनी है,तब सुबह के नाश्ते के आधे घंटे के बाद या शाम को नास्ते के बाद ग्रीन टी लें।
  • एस्पिरिन, ब्लड थिनर(एन्टी कॉगुलर) या अल्कोहोल,कैफ़ेन जैसे स्टिमुलंट के साथ ग्रीन टी न लें।
  • किडनी की बीमारी या लिवर डेमेज हो तो जैसे लिवर सिररोसिस, तब भी ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए। हाई बीपी,और हार्ट रेट ज्यादा हो तब भी ग्रीन टी नहीं लेनी चाहिए।
  • फेफड़ें की खराबी,या कोई बीमारी में ग्रीन टी नहीं लेनी चहिए।
Conclusion – हम आशा करते हैं कि आपको हमारा यह लेख – ग्रीन टी पीने के फायदे और किसे बिल्कुल नहीं पीनी चाहिए पसंद आया होगा।और आपके मन की दुविधा कुछ हद तक काम हुई होगी। हमें विश्वास है, कि इस पोस्ट को पढ़ने के बाद आप ग्रीन टी के फायदे जानकर खुश होंगे। अगर आपके मन में इस आर्टिकल से संबंधित किसी प्रकार का प्रश्न है, तो उसे आप हमसे कमेंट सेक्शन के द्वारा पूछ सकते हैं, तथा अपने सुझाव भी साझा कर सकते हैं। अगर आपको यह लेख पसंद आया है तो कृपया इस लेख को अपने दोस्तों के साथ शेयर करना ना भूलें, जिससे यह महत्वपूर्ण जानकारी अन्य लोगों तक पहुंच सके।

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *