Benefits of exercise mental-physical hindi-शारीरिक और मानसिक आरोग्य के लिए व्यायाम का महत्व

  1. Benefits of exercise mental-physical hindi-शारीरिक और मानसिक आरोग्य के लिए व्यायाम का महत्व

शारीरिक और मानसिक आरोग्य के लिए व्यायाम का महत्व :

सदियों से ऋषि मुनियों ने शारीरिक और मानसिक आरोग्य के लिए व्यायाम का महत्व बताया है। वे योग और ध्यान के द्वारा अपने तन और मन को स्वस्थ रखते थे,और हमारे पूर्वजों,खेतो में काम करते थे कड़ा परिश्रम करते थे,औरते घर मे और खेतों में परिश्रम करती थी जिससे वे लोग तंदुरस्त और निरोगी रहते थे। मगर आज काल हमारे गलत खान पान,और दिन भर बैठे बैठे काम करना और वाहन में आना जाना,जिससे शारीरिक श्रम बहुत कम हो गया है जिससे,लोगो में बीमारियाँ बढ़ रही है,लोग शारीरिक और साथ साथ में मानसिक रूप से भी कमजोर हो रहे है,और एंग्जाइटी और डिप्रेशन, के शिकार हो रहे है।

रेग्युलर एक्सरसाइज की आवश्यकता:-

ऐसे में रेगुलर एक्सरसाइज से शरीर तंदुरस्त रहता है, व शेप में रहता है। तन के साथ साथ मानसिक और भावनात्मक स्तर पे भी बहोत सारे फायदे होते है। हम बात करने जा रहे है,एक्सरसाइज के फायदे,जिससे आप जीवन में कसरत का महत्व जानें और जीवन में इसे रूटीन के तौर पे इसे अपनाएं,और हरदम तंदुरुस्त तन के साथ साथ मन से भी फिट हो पाएं।

एक्सरसाइज के प्रकार:-

एक्सरसाइज कई तरह की हो सकती है,जैसे टहलने जाना,जिम में वर्क आउट,योग,एरोबिक्स, डांसिंग,और शारीरिक परिश्रम भी एक तरह की एक्सरसाइज ही है। जो लोग बिल्कुल एक्सरसाइज नही करते और सारा दिन बैठ कर काम करते है,और सही खान पान का ध्यान नही रखते उनका शरीर डायबिटीज, बीपी,हाई कोलेस्ट्रॉल, वगेरह बीमारियों का घर बन जाता है। रोजाना व्यायाम के शारीरिक और मानसिक स्तर पे होने वाले फायदे:-

शारीरिक और मानसिक आरोग्य के लिए व्यायाम

1)शारीरिक फ़ायदे/physical health:-

1)healthy heart:- कार्डियो वेस्क्युलर (ह्र्दय और हृदयकी रक्तवाहिनी ओं संबंधित) रोग जैसे कि,ब्लड प्रेशर,हार्ट अटैक,हार्ट फैल्योर,स्ट्रोक,हार्ट के वाल्व संबंधी बीमारी से दूर रहने में मदद होगी। 2)improves resting heart rate :-रेगुलर एक्सरसाइज आपके ह्रदय तंदुरुस्त बनता है, जिससे रेस्टिंग हार्ट रेट काम होता है।
एक आम जवान इंसान की रेस्टिंग हार्ट रेट 60 से 80 के बीच होती है।और जो रेगुलर एक्सरसाइज करते है उनकी रेस्टिंग हार्ट रेट जो एक्सरसाइज नही करते उससे 10 बीट्स पर मिनट कम होती है जो कि एक ज्यादा तंदुरस्त ह्र्दय की निशानी है।

3)increase lung cpacity:-रोजाना व्यायाम से फेफड़े मजबूत होते है।फेफड़े में ऑक्सिजन भरपूर मात्रा में मिलता है,जिससे श्वसन (रेस्पिरेटरी)संबंधित रोग जैसे अस्थमा,क्रोनिक ब्रोंकाईएटिस,लंग कैंसर,इत्यादि रोग को दूर रखता है।

4)loose weight:-मोटापा बीमारीओं का घर होता है इस से कई तरह की बीमारियाँ होती है।डेली एक्सरसाइज से वजन नियंत्रित रहता है,और शरीर सुडौल और फिट रहता है।

5)increase red blood cells/hemoglobin:- रोजाना व्यायाम से खून में लाल रक्त कणों की वृद्धि होती है।और ये खून शरीर के हर कोने में पहुचता है जिससे दिल, दिमाग,और शरीर का हर एक अंग स्वस्थ रहता है।

6)increase immunity power:- शरीर में छोटी बड़ी बीमारियों की संभावना कम हो जाती है। रेगुलर एक्सरसाइज से कार्डिओवस्क्युलर डिसीस ,और मेटाबॉलिक सिंड्रोम,जो कि बिमारिओ का झुंड होता है,जिसमें हाई ब्लड प्रेसर, टाइप-2डायबिटीज,इत्यादि बोमरिओं से बचाता है।

7)lessen the risk of fetal desease :- *रेग्युलर एक्सरसाइज कई तरह के कैंसर जैसे,आँतो(कोलन)का कैंसर,व ब्रैस्ट कैंसर,से शरीर को बचाता है।इंसान को दिर्धायु बनाता है।

8)Improves metabolic rate:- रेग्युलर एक्सरसाइज से आपका मेटाबोलिक रेट इम्प्रूव होता है, जब आप एक्सरसाइज करते है करते हो,स्वाभाविक है,उस वक्त आपकी ज्यादा कैलोरी बर्न होती है,मगर जब आप आराम की अवस्था में होते हो तब भी आपका हायर मेटाबोलिक रेट की वजह से हृदय आपकी ज्यादा से ज्यादा कैलोरीज का उपयोग करके आपके शरीर की के डैमेज टिश्यू रिपेयर करने का काम करता है।

9)improves balance co-ordination and bone density:- एक्सरसाइज में बैलेंस को-ऑर्डिनेशन,(मसल स्ट्रेंघटनिंग)स्नायु की मजबूती वाली एक्सरसाइज को आपके रेगुलर एक्सरसाइज प्रोग्राम में शामिल करने से आपकी मोटर स्किल में सुधार आता है,जिससे आपके गिरने की संभावना नही रहती,बॉन डेंसिटी बढ़ती है,हड्डी,जोड़ें, को मजबूती में खूब सुधार आता है।

10)improves digetion power:- एक्सरसाइज से हमारी पाचन शक्ति में खूब सुधार आता है,जिससे आज कल हम जो भी फास्टफूड,मसालेदार जंक फूड, और अपौष्टिक भोजन खाते है वो भी पच जाता है और बाकी का कचरा पेट से आंतों के माध्यम से बाहर निकल जाता है जिससे बिनआरोग्य पद खाने के बावजूद मजबूत पाचन और रोगप्रतिकारक शक्ति की वजह से हम स्वस्थ राह पाते है। मोटापा कम होता है,और शरीर को सुडौल रहता है।

2)मानसिक आरोग्य में सुधार/Mental benifits

1)सुखाकारी की भावना मैं बढ़ोतरी आती है (feel good factor):-

डेली एक्सरसाइज से शरीर की सुखाकारी और खुशी की भावना बढ़ती है। क्योंकि हम रोज एक्सरसाइज करते है हमारे दिमाग में एंडोर्फिन(endorphin) व एनकेफेलिन (enkephelin)नाम के होर्मोन्स जिसे “फ़ील गुड” खुशी के हॉर्मोन्स भी कहा जाता है वो रिलीस होते है, जिससे हमारा मूड अच्छा होता है,और तनाव और डिप्रेशन दूर होता है।शरीर में एनर्जी का अनुभव होता है।

2)सकारात्मकता आती है(positive attitude):-

सकारात्मक जीवन शैली से काफी सकारात्मक बदलाव देखने को मिलते है।

3) गहरी और अछि नींद आती है(deep sleep/quality sleep):-

रेग्युलर एक्सरसाइज से अनिंद्रा का रोग दूर होता है,घनी नींद आने से “स्लीप क़्वालिटी” अच्छि होती है,जिससे दिन में काफी चैन व सुकून का एहसास होता है।

4)एकाग्रता बढ़ती है(improves concentation power):-

*रेग्युलर एक्सरसाइज से दिमाग की कार्य क्षमता बढ़ जाती है, दिमाग तेज होता है ,एकाग्रता बढ़ती है।

5) थकान व कंटाला दुर करता है(removes fatigue):-

*थकान,कंटाला दूर होता है।दिमाग में रक्त का प्रवाह बढ़ता है जिससे ऑक्सीजन की मात्रा भी बढ़ती है,जिससे दिमाग काफी तेज,और विचार शक्ति बढ़ती है।

6) आत्म सम्मान व आत्म विश्वास की भावना मैं बढ़ोतरी होती है(self confidence/self respect):-

*शरीर सुडौल होने से आत्म- सम्मान व आत्म विश्वास बढ़ता है।और जीवन में आने वाली चुनौती का सामना करने की हिम्मत मिलती है।

तो ये है एक्सरसाइज से होने वाले कुछ सकारात्मक परिवर्तन ,जो हमे जिंदगी जीने का हौसला बढ़ाते है।

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

2 Comments

  1. Thanks for the Great Content Sir. I Will also share with my
    Friends & Once again Thanks a lot.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *