मॉइस्चराइजर लगाने का सही तरीका

मॉइस्‍चराइजर एक स्किनकेर प्रॉडक्ट है,जो हमारी स्किन को हवामान से होनेवाले दुष्प्रभाव,जैसे कि अतिरिक्त धुप,पवन,और सूखेपन से बचाता है,और त्वचा को नमी प्रदान कर, लचीला और मुलायम बनाता है,एजिंग प्रोसेस को धीमा कर,झुर्रियां, फाइन लाइन्स,ऐज स्पॉट को होने से रोकता है।

चेहरे और शरीर के अन्य भाग को लगाने वाले मॉइस्चराइज़र भिन्न भिन्न होते है,क्योकि चेहरे की त्वचा अन्य भागों की त्वचा से पतली व सेंसिटिव होती है, इस लिए चेहरेे पे लगाने वाला मॉइस्‍चराइजर हल्का (लाइट)व रोम छिद्रों को (क्लोग) अवरुद्ध नही करता है।जबकि अन्य भागों की त्वचा चेहरे की तुलना में मोटी होती है,इन्हें कड़ी धूप व हवामान का सामना करना होता है,इसलिए बॉडी पे लगाने वाला मॉइस्‍चराइजर ऑयल बेस्ड व हैवी होता है,जो हमे तेज़ धूप व सुखी हवा से बचाता है,और त्वचा को नमी देता है और त्वचा को दिन भर मुलायम बनाये रखता है।

तो देखते है ,मॉइस्‍चराइजर कितने प्रकार के होते हैं,और मॉइस्चराइजर लगाने का सही तरीका क्या है।

मॉइस्चराइजर त्वचा को सुखी और बेजान होने से बचत है।

दिन में लगाने वाले मॉइस्‍चराइजर मैं (spf ) सन प्रोटेक्शन फेक्टर हो,तो और भी फायदा करता है,और धूप से होने वाले नुकसान से त्वचा को अतिरिक्त प्रोटेक्शन देता है,जिससे त्वचा पे सनबर्न व धूप से होने बाले पिगमेंटेशन से बचा जा सकता है।

मॉइस्‍चराइजर में प्रीझर्वेटिव व केमिकल्स की मात्रा,हानिकारक मात्रा से कम होनी चाहिए।आज कल मार्केट में और ऑनलाइन बहुत से अच्छे पेराबेन फ्री,क्रुएल्टी फ्री,मॉइस्‍चराइजर मिल जाऐंगे जो आपकी त्वचा को इन हार्मफुल केमिकल के अतिरेक से बचाएंगे। और जब आप मॉइस्‍चराइजर खरीदें तब मेन्युफेक्चरिंग डेट देख कर खरीदें।

अलग अलग स्किन टाइप के लिए मॉइस्‍चराइजर:

1.ऑयली स्किन:-

अगर त्वचा ऑयली है तो चेहरे के लिए हमेशा वॉटर बेस्ड या जेल बेस्ड मॉइस्‍चराइजर चुनें।

2.नोर्मल और कॉम्बिनेशन स्किन :-

नार्मल और कॉम्बिनेशन स्किनवालों की त्वचा गर्मीओं में ऑयली और ठंडी में ड्राई हो जाती है तो ये लोग,गर्मी में वॉटर बेस्ड और ठण्डी में ऑइल बेस्ड मॉइस्‍चराइजर लगा सकते है।

3.ड्राई स्किन :-

ड्राई स्किन वालों को ऑयल-बेस्ड व क्रीम बेस्ड मॉइस्‍चराइजर चुन ने चाहिए क्योंकि सुखी त्वचामें नेचुरल ऑयल काफी कम निकलता है,त्वचा खिंची खिंची व डल लगती है और इसमें झुर्रियाँ भी जल्द पड़ती है,इसलिये ऑयलबेस्ड मॉइस्‍चराइजर ड्राई त्वचा को अतिरिक्त नमी प्रदान कर के नम व प्लम्प रखता है जिससे त्वचा मुलायम व चमकीली नज़र आती है। और गर्मियों में जब ड्राई स्किन वालों को भी ज्यादा पसीना होता उस वक्त वॉटर बेस्ड या जेल बेस्ड मॉइस्‍चराइजर चुन सकते है।

4.सेंसिटिव त्वचा:-

और अगर आपकी त्वचा सेंसिटिव है,और आपको कोई भी मॉइस्‍चराइजर सूट नही करता,तो आप वर्जिन कॉल्ड प्रेस्ड कोकोनटऑइल/ऑलिव ऑइल/प्योर सनफ्लॉवर आइल/या प्योर तील का तेल लगा सकते हो।

मॉइस्चराइजर लगाने का सही तरीका

  1. हर रोज दिन में दो बार चेहरे को अच्छि तरह फेस वॉश से साफ करें व हफ़्ते में एक-दो बार फेस-स्क्रब से हल्के हल्के स्क्रबिंग करके चहरे की त्वचा को एक्सफोलिएट करें,जिससे डेड स्किन,पोर्स मैं छुपी,मिट्टी,ऑयल जैसी गंदगी निकल कर त्वचा डिपली क्लीन हो जाऐँगी।
  2. अब स्किन तौलिये से हल्के हाथों से थप थपाते हुवे पेट ड्राई करें,हाथ की उँगलियों पे थोड़ा सा मॉइस्चराइजर लें और डोट के रूप में चहरे पर लगाएं और हल्के हाथो की उंगलियों से सर्क्युलर मोशन मैं मसाज करते हुवे लगाएं। गर्दन को बिल्कुल नज़रअंदाज ना करे गर्दन पे भी मसाज करते हुवे मॉइस्चराइजर लगाएं और दो तीन मिनट त्वचा में अब्सॉर्ब होने दें।
  3. अगर दिन में मेक अप लगाने जा रहे हो तो सनस्क्रीन युक्त मॉइस्चराइजर लगाएंगे तो मॉइस्चराईज़िंग के बाद अलग से सनस्क्रीन लगाने की जरूरत नहीं है,वर्ना मॉइस्चराइजर लगाने के बाद सनस्क्रीन अवश्य लगाएं और फिर ही मेक अप शुरू करें।
  4. मेक-अप के पहले मॉइस्चराइजर लगाने से वेल्वेटी फ्लॉलेस लुक मिलता के और चहेरे पे ड्राई पैचेज़ नही दिखते इसलिए मेक-अप के पहले मॉइस्चराइजर अवश्य लगाएं।
  5. मॉइस्चराइजर सुबह और रात को सोने के वक्त जरूर लगाएं जैसे कि शुरू में बताया कि दिन में मॉइस्चराइजर कड़ी धूप व सुखी हवा,मिट्टीआदि से बचाता है,वैसे ही रात के वक्त त्वचा के रिपेयर और रेजुवेनेट की प्रक्रिया को बूस्ट करने में मॉइस्चराइजर मदद करता है।और त्वचा को लंबे समय तक जवाँ व झुर्रियों से दूर रखने में सहाय करता है।

तो आज से ही अपनी डैली स्किन केअर रूटीन में मॉइस्चराइजर को शामिल करें और हमेशा जवाँ और खूबसूरत रहें।

1 thought on “मॉइस्चराइजर लगाने का सही तरीका”

Leave a Comment

Your email address will not be published.