कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएं (facial oils for beautiful ageless skin-hindi)

कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएं (facial oils for beautiful ageless skin-hindi)
कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स

हरकोई सूंदर और जवाँ दीखना चाहता है,और सुंदर दिखने के लिए जरूरी है सूंदर,स्वस्थ त्वचा।सुंदर त्वचा पाने के लिये आज कल ब्यूटी इंडस्ट्रीज में फेसिअल ऑयल्स की बोलबाला है।क्या होते है ये फेसिअल ऑयल्स? इसे क्यों,कब और कैसे लगाना चाहिए।आइए जानते है , कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएँ इत्यादि..(facial oils for beautiful ageless skin-hindi)

क्या है फेसिअल ऑयल्स?

फेसिअल ऑयल्स आम तौर पे सिंगल या विविध प्रकार के प्लांट एक्सट्रैट्स का मिश्रण होता है, इसमे जरूरी फैटी एसिड्स,एमोलिएंट्स,और लिपिड्स होते है।

हमारी त्वचा प्राकृतिक रूप से तेल छोड़ती है,ये तेल हमारी त्वचा मैं बेर्रीयर तैयार करता है जिससे त्वचा भीतरी नमी को कम न करके त्वचा को सुखा होने से बचाता है,और त्वचा को हाइड्रेट रखता है जबकि, फेसिअल ऑयल्स हमारी त्वचा के प्राकृतिक तेल से मिलकर त्वचा में अतिरीक्त सुरक्षा प्रदान करते है।

सूंदर और स्वस्थ त्वचा के लिए सबसे पहले अंदर से स्वस्थ होना जरूरी है,अंदरुनी स्वस्थता के लिए पौष्टिक,और एंटीऑक्सीडेंट से भरपूर आहार जरूरी है।

जबकि,फेसिअल ऑयल्स में एन्टी ऑक्सीडेंट,और एन्टी इंफ्लामेटरी प्रॉपर्टीज होती है,जो त्वचा के ऊपरी सतह को कोमल,मुलायम,चमकदार और हेल्दी बनाता है।

कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएं (facial oils for beautiful ageless skin-hindi)
फेसिअल ऑयल

ये ऑयल्स के फैटी एसिड्स को दो ग्रुप में बांटा जा सकता जैसे लिनोलिक एसिड,ओलेईक एसिड्स।

लिनोलिक एसिड:
लेनोलेइल एसिड्स ऑयली स्कीन के लिए बेहतर होते ये ज्यादा पतले होते है ।लेनोलेइल ऑयल्स-रोज हिप आयल,हेम्प सीड आयल ,सुन फ्लावर ,ग्रेप सीड,इवनिंग प्रिम रोज ,जोजोबा इत्यादि.. लिनोलिक एसिड ग्रुप में आते है

ओलिएक एसिड : ओलिएक एसिड ऑयल्स ड्राई स्किन वालों के लिए बेहतर होते है। उदाहारण के तौर पे ऑलिव ऑइल,मरुलाऑयल्,मेकैडेमिया,एवोकाडो,एप्रिकॉट,आलमंड,और हेज़ल नट वगेरह..ओलिएक एसड ग्रुप में आते है।ये थोड़े हैवी होते है, ड्राई और मेच्योर स्किन के लिए ये ऑयल बेहतर होते है।

फेसिअल ऑयल्स कब लगाने चाहिए:
फेसिअल ऑयल्स सुबह और रात को दोनो वक्त लगा सकते है। सुबह लगाते है तो पूरे दिन त्वचा हाइड्रेट रहती है और ये एक बेरियर तैयार करती है ,जिससे दिन की धूप धूल प्रदूषण को अंदर जाके त्वचा का नुकसान पहुचाने से बचाते है,और रात को सोने के वक्त लगाने से ये त्वचा को हाइड्रेट करके त्वचा को अतिरिक्त पोषण देते है। ऑयली स्किन वालो को फेसिअल ऑयल्स रात को लगाना बेहतर रहता है।

फेसिअल ऑयल्स तीन प्रकार के होते है
एसेंशियल ऑयल
केरियर ऑयल
ट्रीटमेंट ऑयल्स

1)एसेंशियल ऑयल
एसेंशियल आयल प्लांट एक्सट्रेक्टस को डिस्टिल्ड करके बनाया जाता है, ये कंसेंट्रेटेड फॉर्म मैं यानिकि काफी स्ट्रांग फॉर्म में होता है। इस लिए इसे हमेशा डायल्यूट करके केरियर ऑयल ,जेल,क्रीम,मॉइस्चराइजर, जो आपकी स्किन को सूट करता हो उसमे में इसकी दो से तीन बूंदे मिला के चहरे या त्वचा पे लगानी चाहिए।इन्हें डायरेक्ट फेस पे कभी नही लगाना चाहिए।

2)केरियर ऑयल:-केरियर आयल को बेस आयल या फिक्स्ड ऑयल भी कहा जाता है,ये पेड़,पौधें, को बीज,नट्स आदि से प्राप्त ,प्रेसड़ ऑयल होते है।केरियर आयल का बाष्पिभावन नही होता है,और इनकी खुशबू ज्यादा स्ट्रांग नही होती है।

3)ट्रीटमेंट ऑयल्स:ये ऑयल्स आम तौर पे त्वचा की समस्या के अनुसार एसेंशियल ऑयल, करियर आयल के मिश्रण करके त्वचा की समस्या के अनुसार बनाया जाता है।इसमे विटामिन्स और मिनरल्स का भी विशेष तौर पे मिश्रण किया जाता है।
ये त्वचा की समस्या जैसे इन्फ्लामेशन, एक्ने,पिम्पल्स,एक्ज़ीमा,रिंकल्स फाइन लाइन्स (एजिंग),जैसी विविध प्रकार की समस्याओं को ट्रीट करने के लिए विशेष प्रकार से बनाया जाता है।इनमें औषधीय गुण होते है।इन तेलों का त्वचा के समस्या अनुसार एसेंशियल और बेस आयल का मिश्रण करके घर पर भी बना सकते और बाजार में रेडी मेड भी मिलते है।

कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएं (facial oils for beautiful ageless skin-hindi)
कोमल और चमकदार त्वचा के लिए फेसिअल ऑयल्स-जाने इसके फायदे ,कब और कैसे लगाएं

फेसिअल ऑयल को कब और कैसे लगाएं:-
तो फेसिअल ऑयल आम तौर पे चहेरे की त्वचा के लिए बनाया जाता है,इसकी कंसिस्टेंसी आम आयल से पतली होती है,जो त्वचा में आसानी से उतरता है और त्वचा की नमी को बाहर जाने से बचाते है ,और त्वचा को मॉइस्चराइज़ करता है,झुर्रियाँ होने से बचाता है और नरिश करता है।इस तरह ये एन्टी एजिंग का काम करता है।

मॉइस्चराइजर की जगह :-इसे क्लीनजिंग के बाद हल्के गीले चहेरे पे मॉइस्चराइजर की जगह पर सीधा ही लगा सकते है।क्योंकि ये चहेरे को मॉइस्चराइज रखता है।

स्किन केअर में लेयरिंग:-
सीरम और मॉइस्चराइजर जैसे वाटरबेस्ड प्रॉडक्ट जो कि,ऑयल से भी ज्यादा तरल होते है तो हमे सबसे पतली कंसिस्टेंसी वाले पदार्थ से शुरू करके अंत में फेसिअल ऑयल अप्लाई करने चाहिए।
पहले सबसे पतली कंसिस्टेंसी वाला पदार्थ जैसे सीरम लगाने के बाद मॉइस्चराइजर लगा के अंत में फेसिअल ऑयल लगाने से ये सिरम्स ओर मॉइस्चराइजर के न्यूट्रिटिव इंग्रेडिएंट्स, और नमी को लॉक करता है,और त्वचा नम ओर मॉइस्चराइज और ग्लोइंग बनाता है।अगर दिन मैं धूप में निकल रहे हो तो फेसिअल ऑयल लगाने के बाद सनस्क्रीन अवश्य लगाएँ।रात को सनस्क्रीन स्किप करें।

फ्लो लेस मेक-अप बेस के लिए फेसिअल ऑयल:-
दिन मैं अगर आप मेकअप लगाने जा रहे हो तो ऊपर के स्टेप्स फॉलो करने के बाद मेकअप कंटिन्यू कर सकते हो,जिससे एक फ्लो-लेस मेक अप बेस मिलता है और मेक अप पैची नही लगता।

कौनसी त्वचा के लिए कौनसा फेसिअल ऑयल अच्छा होत

पिग्मेंटेड स्किन के लिए:- लेमन एसेंशियल आयल की दो तीन बूंदे (कोकोनट )प्योर ,कोल्ड प्रेस नारियल के तेल में या नाईट क्रीम में डाल के रात को सोने के वक्त दाग धब्बे या पिग्मेंटेड स्किन पे हल्के हाथो से मसाज करने से इन दाग धब्बे को कुछ हद्द तक काम किया जा सकता है,लेमन में ब्लीचिंग प्रॉपर्टीज होती है जो दाग धब्बे को कम करती है और त्वचा को साफ अर रेडिएंट बनाती है।लेकिन दिन के वक्त चहेरे पे सुन स्क्रीन लगाना आवश्यक है क्यों कि लेमन धूप से स्किन को संवेदनशील बनाता है जिससे त्वचा और डार्क हो सकती है।

एक्ने प्रोन,ब्लैकहेड्स,पिम्पल वाली त्वचा के लिए:- अब हम सोचेंगे के एक्ने प्रोन स्किन को तो हमेशा ऑयल्स से दूर रहना चाहिए,मगर एक्टिव एक्ने को थोडा ठीक होने के बाद पतली कनसिसटेन्सी वाले टी ट्री ऑयल्स व लेमन ग्रास आयल जिसमें एंटीबेक्टरीअल प्रॉपर्टीज होती है जो बेक्टेरिया का नाश करता है और एक्ने को कम करने में मदद करता है तो टी ट्री आयल या लेमन ग्रस आयल की दो से तीन बूंदे अलोएवेरा जेल या नाईट क्रीम में डाल के रात को सोने के वक्त लगाने से एक्ने को कम किया जा सकता है।

ऑयली स्किन के लिए:-ऑयली स्किन वाले पॉमग्रेनेट और ग्रेप सीड,टी ट्रीऑयल एंटी एजिंग,और एक्ने के लिए यूज़ कर सकते है क्योंकि ये काफी लाइट कंसीस्टनसी में होता है,पोर्स को क्लॉग नही करते।

एंटीएजिंग के लिए आयल:-ऐसे कई ऑयल्स है जैसे ओलिव आयल,आलमंड आयल,सैंडल वुड आयल,अवोकेडो,रोज हिप ऑयल ,मोरिंगा आयल,पोमग्रेनेट आयल, जिसमे भरपूर मात्रा में एन्टी एजिंग व एन्टी ऑक्सीडेंट प्रॉपर्टीज,होती है,इसमे फैटी एसिड्स,ओमेगा-3 होता है,जो स्किन को पोषण देता है और त्वचा में इलास्टिसिटी बढ़ती है जिससे त्वचा में फाइन लाइन्स,रिंकल्स को कम करता है,त्वचा लंबे समय तक जवाँ और मुलायम बानी रहती है।

सेंसिटिव स्किन के लिए:-एप्रिकॉट ऑयल,सी बक थोर्न ऑयल,मोरिंगा ऑयल जो कि हर स्किन टाइप के लोग यूज़ कर सकते है।

Share this post

Share on facebook
Share on twitter
Share on linkedin
Share on whatsapp

Comments

No comments yet. Why don’t you start the discussion?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *